जानिये कैसे इस 17 साल के पाकिस्तानी क्रिकेट प्लेयर ने भारत के स्पिनर अनिल कुंबले को भी पछाड़ दिया

आईपीएल की बात तो हम रोज़ ही करते हैं, लेकिन पाकिस्तान में चल रही पाकिस्तान सुपर लीग में कुछ ऐसा हुआ की हम भी अपने आप को रोक नहीं पाए। हम बात कर रहे हैं पाकिस्तान के एक ऐसे उभरते खिलाड़ी की जो की शोएब अख्तर के जाने के बाद पाकिस्तानी क्रिकेट टीम की पेस बोलिंग को नए स्तर पे पंहुचा सकते हैं। ये हैं महज़ 17 साल के शाहीन शाह अफरीदी जो की पाकिस्तान सुपर लीग में लाहौर क़लन्दर टीम से खेल रहे हैं। क़लन्दर टीम की बात करें तो 2018 में इनका प्रदर्शन कुछ ख़ास नहीं रहा। लगातार 6 मैच हारने वाली लाहौर क़लन्दर लीग से बहार होने वाली पहली टीम बानी। हालात तो इस क़दर बिगड़ गए हैं कि उनके कप्तान ब्रेंडन मेंकल्लुम ने टीम छोड़ने तक की घोषणा कर दी।

लेकिन अगले ही दिन कुछ ऐसा हुआ कि सबकी नज़रे फिर एक बार इस टीम पाक आकर ठहर गयी। और इसकी वजह हैं 17 साल  पाकिस्तानी तेज़ गेंदबाज़ शाहीन अफरीदी। आइये जानते हैं की उन्होंने ऐसा क्या कारनामा किया।

जरूर पढ़ेआईपीएल सीजन 11 में सबसे खतरनाक होगी यह टीम जानिए कैसे।

Shaheen Afridi in news pakistan super league

फर्स्ट क्लास क्रिकेट में अपने स्पील में महज़ 39 रन देकर 8 विकेट लेने वाले शाहीन तो पिछले साल खूब सराहा गया। इसी वजह से उन्हें मौका मिला पाकिस्तान की तरफ से U -19 वर्ल्ड कप में हिस्सा लेने का।

भले ही उनकी टीम सेमीफइनल में इंडियन टीम से हार कर टूर्नामेंट से बाहर हो गयी लेकिन इस अनुभवी प्लेयर ने अपनी छाप पूरी दुनिया पर छोड़ दी। और अब उन्हें मौका मिला पाकिस्तान सुपर लीग में अपना जलवा बिखेरने का। इसमें वे काफी हद तक खरे भी उतरे हैं।

किस तरह लिए शाहीन ने 3 ओवरों में 5 विकेट , देखें वीडियो

ट्रेंडिंग- आईपीएल 2018 टिकट्स कहाँ से और कैसे खरीदें ?




कौन हैं शाहीन अफरीदी?

सन 2000 में खैबर में जन्मे शाहीन 7 भाई बहेनो में सबसे छोटे हैं। बचपन से ही उनका रुझान क्रिकेट की तरफ रहा। इसका एक कारण यह भी हो सकता है कि उनके सबसे बड़े भाई रिआज़ अफरीदी, जो की उनसे 15 साल बड़े हैं, पाकिस्तान के लिए सन 2004 में अपना जीवन का एक मात्र टेस्ट मैच खेल चुके हैं। शाहीन का क्रिकेट करियर सन 2015 में FATA के U-16 के ट्रायल्स के दौरान हुआ। चौंकाने वाली बात यह है कि इससे पेहले शाहीन ने कभी हार्ड बॉल से खेला तक नहीं था।

इसके बाद उन्होंने पाकिस्तान U -19 क्रिकेट टीम और U -19 2016 एशिया कप के लिए भी चयन हुआ। इसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर भी नहीं देखा। बांग्लादेश प्रीमियर लीग 2017 के लिए उन्हने 2 साल का कॉन्ट्रैक्ट भी साइन किया।

17 साल की छोटी सी उम्र में वे पाकिस्तान U -19 वर्ल्ड कप टीम का भी हिस्सा बने। इस टूर्नामेंट में भी उन्हीने काफी प्रभावी प्रदर्शन करते हुए 5 मैचों में 12 विकेट्स लिए। इन्होने न केवल बॉल से बल्कि अपने बल्ले से भी काफी वाह वाही लूटी। उनके इस शानदार जज़्बे के लिए अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट संघ ने उन्हें rising star of the squad के पद से भी सम्मानित किया।



आपके लिए-आखिर क्यों नहीं ख़रीदा ककर ने गौतम गंभीर को?

क्या है शाहीन के चर्चित होने की वजह ?

जैसा की अधिकाँश लोग जानते हैं कि आईपीएल में पाकिस्तानी खिलाड़ियों को खेलने से प्रतिबन्ध के बाद कई पाकिस्तानी खिलाडी असहज महसूस करने लगे थे। सन 2015 में पाकिस्तान सुपर लीग का गठन किया गया। इसके बाद पाकिस्तानी क्रिकेट प्लेयर्स को एक मौका मिला।

2018 के PSL में लाहौर क़लन्दर से होने T-20 करियर की शुरुआत करने वाले शाहीन अफरीदी की शुरुआत उतनी शानदार नही रही। इनकी टीम ने लगातार 6 मैच हारे जिससे सबका मनोबल गिरने लगा। इनके कप्तान ब्रेंडन मेंकल्लुम ने तो अपनी हार का जिम्मेदार सरेआम खराब बौलिंग प्रदर्शन को बताया।

लेकिन कोई ऐसा भी था जो की अपने कप्तान के नाखुश होने से और भी दुखी था और अपने आप को साबित करने के लिए मौका तलाश रहा था। अगले ही मैच में उसे यह मौका मिला और उसने अपनी गेंदबाज़ी से उसने सबका दिल और अपनी टीम लिए मैच भी जीत लिया।

Shaheen Afridi record in pakistan super league t20



कैसे तोडा शाहीन अफरीदी ने अनिल कुंबले का रिकॉर्ड ?

Playoff से सबसे पहले बहार होने वाली लाहौर क़लन्दर के पपास एक मौआ था अपनी लाज बचने का और इसका बेड़ा उठाया महज़ 17 साल के दाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ शाहीन अफरीदी ने। मुल्तान सुल्तान के विपक्ष खेलते हुए शाहीन ने अपने 3.4 लम्बे स्पेल में इन्होने महज़ 4 रन देकर 5 विकेट अपने नाम किये। इन 3.4 ओवर्स में 1 ओवर मेडिन भी था। इस चमत्कारी स्पील के साथ ही इन्होने भारत के स्पिन गेंदबाज़ अनिल कुंबले के 10 साल पुराने रिकॉर्ड को भी तोड़ दिया।

अनिल कुंबले के 5/5 के रिकॉर्ड को तोड़ते हुए शाहीन दुनिया भर की सुर्खियों पे छा गए और इस मुकाम पे पहुँच कर उन्हें काफी अच्छा भी लग रहा है। बता दें की कुंबले ने सन 2009 में राजसथान रॉयल्स के खिलाफ खेलते हुए यह रिकॉर्ड होने नाम किया था। लेकिन शाहीन की इस कारनामे के बाद 20 वर्ष के इस खेल में सबसे किफ़ायती ओवर का रिकॉर्ड इनके नाम हो चुका है।

शाहीन की धमकद्दर गेंदबासी से न केवल लाहौर कलंदर्स ने PSL में अपनी पहली जीत दर्ज़ की बल्कि इस बात का भी एहसास पूरी दुनिया को कराया की पाकितान क्रिकेट टीम की डोर वसीम अकरम और वक़ार यूनिस जैसे महान तेज़ गेंदबाज़ो के बाद अब भी सुरक्षित हाथों में है।

Play VIVO IPL 2018 Quiz 




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Indian Premier League 2019 © 2018 Frontier Theme